प्रेग्नेंसी टेस्ट यह आकलन करने का सबसे सटीक तरीका

59

प्रेग्नेंसी टेस्ट यह आकलन करने का सबसे सटीक तरीका है कि क्या आप गर्भवती हैं या नहीं। हालांकि, कुछ सामान्य लक्षणों का अनुभव गर्भावस्था के उन पहले लक्षणों को प्रकट कर सकता है, जो एक मिस्ड पीरियड से भी पहले आपको प्रेग्नेंट होने का एहसास करा देंगे। यहां गर्भावस्था के कुछ शुरुआती लक्षणों की एक सूची दी गई है।यदि आप गर्भवती हैं, तो टेस्ट कराने से पहले आपको लक्षण देख लेने चाहिए।

Pregnancy symptoms

‘अरे! मेरे पीरियड्स मिस हो गए, इसका मतलब मैं प्रेग्नेंट हूं।’ ऐसा अक्सर आपने महिलाओं के मुंह से सुना होगा। क्योंकि आमतौर पर मासिक धर्म का मिस होना ही गर्भधारण जानने का एक सरल तरीका है। लेकिन क्या आप जानते हैं कि पीरियड मिस होने से पहले भी आपका शरीर आपको कई तरह से संकेत देता है कि आप प्रेग्नेंट हो चुकी हैं। हालांकि, आप इस पर ज्यादा ध्यान नहीं देती हैं जिसकी वजह से आपको यह लक्षण दिखाई नहीं देते हैं। लेकिन पीरियड मिस्ड टाइम से पहले भी प्रेग्नेंसी के कुछ शुरुआती लक्षण दिखाई देने लगते हैं जिनकी सूची आज हम इस लेख में लेकर आए हैं। तो देर किस बात की है, पढ़ना शुरू करते हैं!

ऐंठन: ऐंठन होना गर्भावस्था का एक प्रारंभिक और स्पष्ट संकेत है। यदि आप गर्भवती हैं तो आपको हल्के ऐंठन का अनुभव हो सकता है। ये ऐंठन आपके पीरियड्स के दौरान होने वाली ऐंठन के समान होगी, लेकिन ये आपके निचले पेट या पीठ के निचले हिस्से में होगी।

1

बॉडी टेम्परेचर बढ़ जाना: बाकी के लक्षणों की तुलना में यह अधिक सटीक है, शरीर के तापमान पर अगर ध्यान दें तो उसमें परिवर्तन का पता लगाया जा सकता है। ओव्यूलेशन से पहले, शरीर का तापमान बढ़ जाता है और आपके पीरियड चक्र के बाद वापस सामान्य हो जाता है। हालांकि, गर्भावस्था के दौरान, शरीर का तापमान ऊंचा ही रहता है। यह गर्भावस्था के दौरान प्रोजेस्टेरोन के उच्च स्तर के कारण होता है, जिससे शरीर के तापमान में वृद्धि होती है। यदि आपके शरीर का तापमान 20 दिनों के बाद ओव्यूलेशन से बढ़ रहा है, तो यह आपके जीवन की एक नई यात्रा की शुरुआत का प्रतीक है।
यह भी पढ़ें: प्रेगनेंसी में पीठ दर्द अब नहीं करेगा परेशान, अपनाएं ये घरेलू नुस्खे

2

गले में खराश और स्तनों का भारी हो जाना: गले में खराश, भारी स्तन या गहरे रंग के आइसोल्स गर्भावस्था के लक्षण हैं, जो आपको मिस्ड पीरियड से एक सप्ताह पहले ही दिख जाएंगे। गर्भाधान के बाद एस्ट्रोजेन के स्तर में वृद्धि के साथ, महिलाओं को स्तनों में दर्द महसूस होता है। निपल्‍स गहरे रंग के लगने लगते हैं और खुजली भी होती है, आप मरोड़ या चुभन महसूस करने लगते हैं। लेकिन, यह सब आपके पीरियड के लक्षणों से बहुत अलग नहीं हैं, परन्तु वे आपके पीरियड मिस होने के बाद भी रहेंगे।
केमिकल प्रॉडक्ट्स नहीं इन फेसपैक से प्रेग्नेंसी में निखारे रंगत
थकावट महसूस होना और अधिक नींद आनाहार्मोनल परिवर्तन आपको हर समय थका हुआ रखते हैं। थकावट और अधिक नींद आना गर्भवती होने के शुरुआती लक्षण हैं। गर्भावस्था के दौरान छोटे-छोटे काम करने के बाद थकान महसूस होना सामान्य है। प्रोजेस्टेरोन के स्तर का बढ़ जाना आपकी अत्यधिक निद्रा की वजह हो सकता है और यह सब पहले तीन महीने तक महसूस होता रहेगा। बढ़ते भ्रूण का समर्थन करने के लिए शरीर अधिक रक्त का उत्पादन करना शुरू कर देता है, जिसके परिणामस्वरूप थकावट बढ़ जाती है। यह एक स्वस्थ आहार, खनिज, विटामिन, लोहा, और तरल पदार्थों से भरपूर भोजन के जरिये कम किया जा सकता है।

3

उल्टी होना: उल्टी होना एक बहुत ही सामान्य लक्षण है, जिसे अक्सर लोग मॉर्निंग सिकनेस कह कर टाल देते है, लेकिन यह संकेत आपके गर्भवती होने की तरफ एक इशारा भी हो सकता है। आप असहज महसूस करना शुरू कर सकती हैं और गर्भाधान के 4-6 सप्ताह बाद उल्टी जैसा महसूस कर सकती हैं। एस्ट्रोजेन और प्रोजेस्टेरोन के स्तर में वृद्धि के कारण, आप हर दिन सुबह उठने के बाद ऐसा फील कर सकती हैं। जरूरी नहीं कि यह सुबह ही हो। यह कभी भी हो सकता है। दिन में कई दफा आप उल्टी जैसा महसूस कर सकती हैं, और पूरी गर्भवस्था के दौरान आपको इस तकलीफ से गुजरना पड़ सकता है। मिस्ड पीरियड से पहले गर्भावस्था के शुरुआती हफ्तों में लगभग 80% गर्भवती महिलाएं उल्टी जैसी समस्याओं से पीड़ित होती हैं। मॉर्निंग सिकनेस या उल्टी के लक्षणों की गंभीरता अलग-अलग महिलाओं में भिन्न होती है, लेकिन 50% गर्भवती महिलाओं को गर्भावस्था के छह सप्ताह या उससे पहले भी यह महसूस होती है।
यह भी पढ़ें: प्रेग्नेंट होने से पहले अपने पार्टनर के साथ जरूर करें इन बातों पर विचार

4

फूड क्रेविंग और मूड स्विंग्स: गर्भावस्था के हार्मोन आपके पसंदीदा भोजन के लालच को बढ़ा देता हैं। तीखा स्वाद और खट्ठा खाने में अचानक बढ़ोत्तरी, गर्भाधान के बाद शुरुआती हफ्तों में होती है या पूरी गर्भावस्था के दौरान भी हो सकती है। कुछ माताएं इस दौरान छोटी-छोटी बातों पर क्रोध भी कर सकती हैं। हार्मोन में परिवर्तन आपको या तो उत्साहित महसूस करा सकता है या आलसी महसूस करा सकता है। हार्मोन में असंतुलन मस्तिष्क में न्यूरोट्रांसमीटर को प्रभावित करता है, जिससे आपके अंदर भावनात्मक प्रतिक्रिया बढ़ जाती हैं, जो क्रोध से लेकर अचानक भावनात्मक विस्फोट का रूप ले सकती हैं। ऐसे में आराम आपको सामान्य महसूस कराने के लिए एक बेहतर विकल्प हैं।
पीरियड्स मिस होने से पहले जानें आप प्रेग्नेंट हैं या नहीं
गर्भाधान के 6 से 14 दिन बाद गर्भावस्था के शुरुआती लक्षण सामने आते हैं। एक बार जब आप ओव्यूलेशन अवधि के दौरान सेक्स करते हैं, तो शरीर बढ़ते भ्रूण के लिए खुद को तैयार करना शुरू कर देता है। फर्टिलाइजेशन के बाद, भ्रूण खुद को गर्भाशय की दीवार से जोड़ता है। आपके पीरियड्स होने के दस दिन पहले आप गर्भवती हो जाती हैं। यही कारण है कि जब आप गर्भावस्था के शुरुआती लक्षण जैसे कि उल्टी और थकान महसूस करना शुरू करती हैं। हालांकि, गर्भावस्था परीक्षण एक या दो सप्ताह की अवधि के बाद ही सर्वोत्तम परिणाम देता है, क्योंकि मूत्र में गर्भावस्था हार्मोन का स्तर तब तक उचित स्तर तक होता है।