शीघ्रपतन का इलाज | Shighrapatan Ka Ilaj | Premature Ejaculation Treatment In Hindi

195

शीघ्र स्खलन का रामबाण इलाज

IASH, नरविज्ञान (Andrology) एवं यौन स्वास्थ्य (Sexual Health) कि सर्वश्रेष्ठ संस्थानों में से एक है। हम भारत में शीघ्रपतन का इलाज व उपचार करने के लिए जाने जाते है। हम हर रोगी के लिए उनके योन समस्या के हिसाब से एक व्यक्तिगत इलाज प्रक्रिया  ( पर्सनलाइज्ड ट्रीटमेंट प्रोटोकॉल) बनाते है| इसके जरिए बहुत से लोग शिग्रपतन, स्तंभन दोष एवं पुरुष बांझपन से छुटकारा पा चुके है | और हमारा शीघ्र स्खलन का इलाज बहुत लोगो के लिए एक रामबाण साबित हुआ है शीघ्र स्खलन का रामबाण इलाज

शीघ्रपतन का इलाज करने की शुरुआत पुरुष के शारीरिक संबंध व बीमारी की वर्त्तमान स्तिथि के कारणों को जानने से होत्ती है, क्या शिग्रपतन Lifelong है या किसी Condition में होत्ता है इत्यादि कारणों को अच्छे से समझा जाता है| शीघ्र स्खलन का रामबाण इलाज

शीघ्रपतन रोकने के इलाज में बहुत सी उपचार पद्धतियां बहुत कारगर साबित होती है जैसे की सेक्स थेरेपी (Sex Therapy), बिहेवियरल तकनीक (Behavioral Techniques), पेल्विक फ़्लोर पुनर्वास प्रक्रिया  (Pelvic Floor Rehabilitation Program/ Pelvic Gym), टोपिकल थेरेपी (Topical Therapy) , दवाएं (Oral Medicines) एवं शल्य-चिकित्सा (Surgeries).

विश्व में एक अत्याधुनिक शीघ्रपतन के उपचार की चिकित्सा पद्दति बहुत प्रचलन में है | जिसे शॉक वेव थेरेपी कहते है| यह जर्मनी में ईजाद की गयी एक नयी शीघ्रपतन इलाज की प्रक्रिया है जिससे शीघ्रपतन का दर्दरहित, शल्य-चिकित्सा मुक्त, दवा मुफ्त, सुरक्षित एवं कारगर इलाज संभव हो पाया है| भारत में आप ये इलाज पद्दति IASH (Institute of Andrology and Sexual Health) में पा सकते है| शीघ्र स्खलन का रामबाण इलाज

"शीघ्रपतन

जानिए IASH कैसे शीघ्रपतन का इलाज में आपकी मदद कर सकता है

IASH में भारत के सर्वश्रेष्ठ Sexologist एवं Andrologist मौजूद है, एवं शीघ्रपतन रोकने के सभी उपाय भी यहाँ मौजूद है |

सभी प्रकार की योन बीमारियों के इलाज का सफलता प्रतिशत भी 70% से अधिक है | जो की भारत में एक काफी अच्छा प्रतिशत माना जाता है|

IASH Shighrapatan Ke Upchar की विशेषताएं

  • बहुत अनुभवी एवं विश्व विख्यात सेक्स एक्सपर्ट्स द्वारा शीघ्रपतन का इलाज,
  • सभी प्रकार की वैज्ञानिक एवं अत्याधुनिक उपकरणों से लैस,
  • एंडरोलॉजी से संबंधित अनुसंधान और निष्कर्षों के अंतर्राष्ट्रीय मानकों के साथ,
  • आधुनिक अंतर्राष्ट्रीय एंडरोलॉजी से संबंधित अनुसंधान और निष्कर्षों के मानकों का पालन,
  • शीघ्रपतन एवं अन्य सभी योन बीमारियों का कम लागत में बहुत अच्छा इलाज,
  • बहु-विषयक दृष्टिकोण एवं जीवन शैली में सुधार पर जोर
  • गोपनीयता और रोगियों की गुमनामी प्राथमिकता।

मिलिए भारत में प्रसिद्द Shighrapatan Ka Ilaj करने वाले डॉक्टर से

डॉ. चिराग भंडारी  व उनकी टीम को पुरुष यौन रोगों को रोकने के उपायो व उनके उपचार की दिशा मे काम करने क लिए बहुत जाना जात्ता है| डॉ. चिराग भंडारी स्थापित संस्था, IASH, भारत में इस काम के लिए जानी जाती है| ये Hospital पुरुष योन रोगो से सम्बंधित सभी बीमारियों के इलाज में सक्षम है | अगर आप शीघ्रपतन का इलाज या शीघ्रपतन रोकने के उपायों को ढूंढ रहे है और shighrapatan ka pakka ilaj पांना चाहते है तो आप IASH के Experts से ऑनलाइन कंसल्टेशन (Online Consultation) बुक कर सकते है या 9602081813 पर कॉल कर के पर्सनल ऑनलाइन अपॉइंटमेंट भी बुक कर सकते है 

eShighrapatan Ka Ilaj करने वाले डॉक्टर


जानिए वीर्यस्खलन क्या है

जानिए वीर्यस्खलन क्या है - male Pelvis Reproductive

वीर्यस्खलन का मतलब लिंग से वीर्य का निकलना है|

जब एक आदमी सेक्स के दौरान उत्तेजना के एक निश्चित स्तर तक पहुंचता है, तो श्रोणि मांसपेशी (पेल्विक) को भेजे गए रासायनिक और तंत्रिका संदेश वीर्यस्खलन का कारण बनते हैं। यौन उत्तेजना रीढ़ की हड्डी और मस्तिष्क को रासायनिक संदेश भेजने के लिए लिंग में नसों को प्रज्वलित करती है।

ये रसायन संदेश पूरे मस्तिष्क को उत्तेजित करते हैं, जबकि मस्तिष्क में तंत्रिका तंत्र इन संदेशों को रीढ़ की हड्डी के माध्यम से पुरुष प्रजनन अंगों तक पहुंचाता है।

जबकि पूरी तरह से समझा नहीं गया है, यह माना जाता है कि रासायनिक सेरोटोनिन इस पूरी प्रक्रिया में एक प्रमुख भूमिका निभाता है।

वीर्यस्खलन में मुख्य रूप से दो चरण शामिल हैं।

  • पहला चरण (उत्सर्जन) जिसके माध्यम से पुरुष प्रजनन अंगों (प्रोस्टेट, वीर्य पुटिका, वास डेफेरेंस) से वीर्य के घटक निकलते हैं। इस प्रक्रिया के दौरान, वीर्य मूत्रमार्ग (मूत्र चैनल) में जमा हो जाता है।
  • दूसरा चरण (उचित स्खलन, निकासी) एक प्रतिवर्त है जो मूत्रमार्ग के आसपास की मांसपेशियों के लयबद्ध संकुचन का कारण बनता है, जो मूत्रमार्ग के माध्यम से और लिंग से वीर्य को खींचता है।

पेल्विक फ्लोर की मांसपेशियाँ जैसे कि इशीओकेवरनोसस (ischiocavernosus) और बुलबोसॉन्गिओसस (bulbospongiosus) पूर्ण स्खलन प्रतिवर्त में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं।

शीघ्रपतन क्या है?

वीर्य के जल्दी निकल जाने को शीघ्रपतन कहा जाता है। इसमें पुरुष अपने साथी के सम्भोग सुख प्राप्त करने से पहले ही वीर्यस्खलन कर देता है, जो संभवतः 1 मिनट से भी कम समय में हो सकता है। आमतौर पर, स्खलन का सामान्य समय 5 से 6 मिनट के बीच होता है।

पीई को परिभाषित करने के लिए विशेष रूप के मापदंडो का उपयोग किया जाता है|

  • योनि प्रवेश और स्खलन के बीच की समय अवधि (जिसे विलंबता अवधि भी कहा जाता है) का वांछित से कम होंना|
  • पुरुषो का अपने स्खलन पर नियंत्रित ना होना|

शीघ्रपतन के विभिन्न प्रकार?

शीघ्रपतन दो प्रकार के होते हैं|

1. आजीवन, जब एक आदमी को अपने पहले यौन अनुभव के समय से स्खलन का कोई नियंत्रण नहीं होता है। यदि जल्द ही इलाज नहीं किया जाता है, तो शीघ्रपतन की समस्या उनके जीवन के बाकी समय तक रह सकती है।

2. अधिग्रहित शीघ्रपतन , कभी-कभी सामान्य यौन सम्बन्धो के बाद अधिग्रहित शीघ्रपतन विकसित होता है। जिसे द्वितीयक शीघ्रपतन के रूप में संदर्भित किया जाता है। ISSM द्वारा शीघ्रपतन विवरण इस प्रकार है: पीई का सबसे गंभीर प्रकार पूर्व पोर्टस स्खलन (ante Portus ejaculation) कहा जाता है, जो कि प्रत्येक प्रवेश से पहले होता है।

शीघ्रपतन के क्या कारण हैं?

30% से 40% लोग इस बीमारी से पीड़ित हैं।

शीघ्रपतन आमतौर पर तनाव, अवसाद, शारीरिक कमजोरी, स्तंभन दोष आदि के कारण होता है, शारीरिक कारण जैसे रक्तचाप में वृद्धि, मधुमेह, थायराइड की समस्या या प्रोस्टेट रोग भी इसका कारण हो सकता है। यह एक प्रकार का रोग है जो मनुष्य के शुक्राणुओं की गुणवत्ता को प्रभावित करता है।

शीघ्रपतन के कारण

मनोवैज्ञानिक कारण

मनोवैज्ञानिक कारकों में ये बिंदु शामिल हैं

  • शुरुआती यौन अनुभव
  • यौन शोषण
  • शरीर की खराब छवि
  • शीघ्रपतन की चिंता करना
  • गलत सोच जो हस्तमैथुन को बढ़ावा देती है
  • शराब या नशीली दवाओं का दुरुपयोग
  • निद्रा संबंधी परेशानियां
  • वजन और भूख में बदलाव होता है

जैविक कारण

जैविक कारकों में ये बिंदु शामिल हैं:

  • जैविक कारक जैसे वायरस, बैक्टीरिया जो मानव स्वास्थ्य को नुकसान पहुंचा सकते हैं
  • असामान्य हार्मोन का स्तर
  • प्रोस्टेट या मूत्रमार्ग की सूजन और संक्रमण
  • विरासत के लक्षण
  • विभिन्न मस्तिष्क रसायनों, न्यूरोट्रांसमीटर

शीघ्रपतन के लक्षण क्या हैं?

शीघ्रपतन के कुछ लक्षण हैं :-

  • यह सेक्स करने के लिए एक मजबूत उत्तेजना पैदा करता है।
  • उद्दीपन की प्रक्रिया उत्तेजना के कुछ सेकंड के भीतर शुरू होती है
  • शीघ्रपतन सेकंड या मिनट के भीतर होता है।
  • सभी परिस्थितियों में शीघ्रपतन हो सकता है।
  • हस्तमैथुन के दौरान शीघ्रपतन भी हो सकता है

शीघ्रपतन का इलाज कैसे किया जाता है?

शीघ्रपतन के निदान का सबसे महत्वपूर्ण पहलू एक विस्तृत यौन इतिहास है। शीघ्रपतन (PE) का निदान करने के लिए, डॉक्टर आमतौर पर निम्नलिखित जैसे प्रश्न पूछते हैं

  1. PE की समस्या कितने समय से है? ये कब शुरू हुआ?
  2. साथी की प्रवेश और स्खलन के बीच का समय क्या है?
  3. स्खलन पर आदमी का कितना नियंत्रण है?
  4. वह कितना व्यथित है इस स्थिति के बारे में महसूस करके?
  5. उसका साथी कितना व्यथित महसूस करता है?
  6. क्या चिंता मनोवैज्ञानिक, भावनात्मक या पारिवारिक सम्बन्धो के कारण है?

पुरुषों में किसी भी यौन समस्या के निदान के लिए पुरुष जननांग अंगों की एक पूरी शारीरिक परीक्षा बहुत महत्वपूर्ण है.

शीघ्रपतन निदान उपकरण के रूप में जाना जाने वाला एक अंतरराष्ट्रीय स्तर पर मान्यता प्राप्त वैज्ञानिक पैमाना शीघ्रपतन की गंभीरता का निदान करने में बहुत उपयोगी है|